Friday, 12 May 2017

Nitibaani

🌹🌿🌹🌿🌹🌿🌹🌿🌹

*कोयल अपनी भाषा बोलती है,*
        *इसलिये आज़ाद रहती हैं*
*किंतु तोता दूसरे कि भाषा बोलता है,*
        *इसलिए पिंजरे में जीवन भर गुलाम रहता है*
*अपनी भाषा,*
        *अपने विचार और*
               *"अपने आप" पर* *विश्वास करें..!*

       🌹🙏 by allquestion.com🙏🌹
Share:

BEST QUESTION

Blog Archive

Find Us On Facebook